RPSC 1st Grade Latest News Today || rpsc 1st grade new exam date || rpsc 1st grade exam date 🔥🔥

RPSC 1st Grade Latest News Today || rpsc 1st grade new exam date || rpsc 1st grade exam date 🔥🔥


Welcome to KJ TECH HINDI Please subscribe this channel For more Update With 100% ACCURACY Rpsc 1st grade exam date Rpsc 1st grade new exam date Rpsc 1st grade exam date Subscribe now Like and share this video Thanku for watching

Posts created 10158

100 thoughts on “RPSC 1st Grade Latest News Today || rpsc 1st grade new exam date || rpsc 1st grade exam date 🔥🔥

  1. Dotasara ji kahte h ki jan. Walon ki sagaai ho gai h wo tut jayegi to me kahna chahunga ki me bhi 2 saal se tyaari kar raha hun magar 1.5 lacks bhai-bahno k bhawisya k sath dhoka mujhe bhi pasand nahi. Mantri ji jan. Wale fail ho gaye to unki sadi nahi tutegi kya.

  2. Abhi kisi candidate ne dotasara se call pr baat ki to vo dotasara usko dhmka ra h .kh ra h Mt do exam .PR January me hi hoga exam to …

  3. Shiksha ko is admi ne dhndha bna Diya h or c.m ki nind hi ni khul rhi h ….jadugar c.m. h or jadu KR Diya dotasara ne …

  4. भाईयो गुजरो को साथ ललो।।। नतीजा हाथो हाथ पावे जय हिंद

  5. Gya gujra aadmi h todasra bhut tevr dikha rha h bol rha h form bharne jaruri the kya nalayak kuta kmina chor pepar bech diye

  6. आदरणीय अशोक गहलोत साहब , भारत का संविधान लोक नियोजन में अवसर की समानता की बात करता है ,प्रथम श्रेणी शिक्षक भर्ती परीक्षा के आवेदन रिओपन करने के पश्चात 156000 नए अभ्यर्थियों को और 200000 स्नातकोत्तर उत्तरार्ध के अपीयरिंग अभ्यर्थियों को और 50,000 b.l.o. को परीक्षा की तैयारी का न्यूनतम समय भी नहीं मिल पा रहा है ,जो कि स्पष्ट रूप से भारत के संविधान की अवसर की समानता का उल्लंघन है | आपने संविधान की शपथ ली है , आप राज्य के मुख्यमंत्री हैं , अतः अपना कर्तव्य मानते हुए परीक्षा तिथि को जुलाई माह तक तो कम से कम ब़ढा ही दीजिए | वैसे इस परीक्षा की तैयारी के लिए कम से कम 1 वर्ष का समय अपेक्षित है |
    हम आपके हित चिंतक हैं | यदि आपने सही निर्णय नहीं लिया तो आप की छवि धूमिल होगी और आगामी पंचायती चुनाव में कांग्रेस को इसका पर्याप्त नुकसान झेलना पड़ेगा ,अपनी विवेक शीलता उदारता का परिचय दीजिए | जो अधिकारी वर्ग आपको दिग्भ्रमित कर रहे हैं या जो मंत्री अपनी हठधर्मिता पर अड़े हैं ,उनके कुछ निजी स्वार्थ हैं, जिन्हें आप गहराई से पता लगाएंगे तो आपको पता लग जाएगा | समय रहते सही निर्णय कीजिए अन्यथा इतिहास में आपकी उदार छवि धूमिल होगी और आपकी विचारधारा और आपके वचन सत्य नहीं रह जाएंगे |
    साथ ही सरकारी कर्मचारियों को अपने कर्तव्य के लिए जिम्मेदार ठहराने हेतु एक मूल्यांकन प्रक्रिया भी आरंभ कीजिए , क्योंकि सरकारी तंत्र में बहुत हरामखोरी और भ्रष्टाचार व्याप्त है | जब आपके जैसे नेताओं के लिए प्रत्येक 5 वर्ष में जनता द्वारा मूल्यांकन अनिवार्य है तो सरकारी कर्मचारी क्या स्वर्ग लोक से पट्टा लिखवा कर लाया है कि 60 वर्ष तक उसे राज्य करने का अधिकार हो गया ? उसे भी प्रतियोगी परीक्षा के माध्यम से प्रत्येक 2 या 3 वर्ष पश्चात पुनर्मूल्यांकन के मैदान में उतारना चाहिए और यदि वह अपनी योग्यता से वंचित हो जाता है तो नए लोगों को अवसर देना चाहिए | साथ ही यह भी तय करना चाहिए कि इनके हेतु उन्हें परीक्षा में बैठने के लिए या अन्य सभी नागरिकों के लिए भी निर्धारित 60 वर्षों की रिटायरमेंट आयु है तक भी कोई भी आयु सीमा किसी भी वर्ग के लिए ना हो क्योंकि प्रत्येक आयु वर्ग में योग्य लोग बैठे हैं और इससे राज्य को लाभ होगा क्योंकि प्रतियोगिता परीक्षा में बैठाने से राज्य को अतिरिक्त आय भी होगी , जिसका एक कोष स्थापित किया जाए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top